टीम इंडिया के इस स्टार खिलाड़ी को नहीं मिलेगी T20 वर्ल्ड कप टीम में जगह! BCCI अधिकारी ने किया खुलासा

0
21


T20 World Cup: भारतीय टीम को इस साल ऑस्ट्रेलिया में आयोजित होने वाले टी20 वर्ल्ड कप में भाग लेना है. भारत ने 2007 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अपना एकमात्र खिताब जीता था. तब से टीम इंडिया खिताब जीतने के लिए तरस रही है. अब भारतीय टीम की कमान रोहित शर्मा के हाथों में है, लेकिन एक खतरनाक खिलाड़ी टी20 वर्ल्ड कप में हिस्सा नहीं ले पाएगा. ये प्लेयर अपनी जादुई गेंदबाजी में माहिर है. साल 2021 में हुए टी20 वर्ल्ड कप में ये खिलाड़ी भारतीय टीम का हिस्सा था. अब इस खिलाड़ी के टी20 वर्ल्ड में ना खेल पाने की वजह से इसके करियर पर पारवब्रेक लगते हुए नजर आ सकते हैं. 

ये खिलाड़ी हुआ बाहर 

भारत के स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को इंग्लैंड दौरे के लिए भारत की वनडे और टी20 टीम में जगह नहीं मिली है. जब महेंद्र सिंह धोनी टीम इंडिया के कप्तान थे, तब अश्विन टीम इंडिया की गेंदबाजी आक्रमण की अहम कड़ी थे, लेकिन उसके बाद उन्हें सफेद गेंद के क्रिकेट में सेलेक्टर्स ने नजरअंदाज करना शुरू कर दिया. उनकी जगह कई युवा प्लेयर्स ने टीम इंडिया में ले ली. युजवेंद्र चहल, रवि बिश्नोई और राहुल चाहर जैसे गेंदबाज टीम इंडिया में आ गए. 

नहीं हैं प्लान का हिस्सा 

इनसाइड स्पोर्ट्स की रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा कि टीम में दूसरे स्पिनर के लिए बहुत ही ज्यादा कम्पटीशन है और हम उसके लिए ऑलराउंडर्स की तलाश कर रहे हैं. रवींद्र जडेजा, दीपक हुड्डा और दूसरे स्पिनर्स ने रविचंद्रन अश्विन से बेहतर प्रदर्शन किया है. इसलिए वह सफेद गेंद वाले फॉर्मेट्स के प्लान में नहीं है. रविचंद्रन अश्विन लंबे समय से खराब फॉर्म से जूझते हुए नजर आए हैं. 

इस वजह से योजना में नहीं है अश्विन

रविचंद्रन अश्विन भले ही अभी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनर हों, लेकिन वह अपनी स्लो बैटिंग से कारण सफेद गेंद के क्रिकेट में पिछड़ रहे हैं. वह रवींद्र जडेजा और अक्षर पटेल की तरह हार्ड-हिटर नहीं है. जबकि जडेजा और पटेल निचले क्रम पर विस्फोटक बैटिंग करते हैं. रविचंद्रन अश्विन उस भारतीय टीम में शामिल थे, जिसने आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी. वहीं, टी20 क्रिकेट के पिछले 5 मैचों में उन्होंने 9 विकेट हासिल किए हैं. 

टेस्ट टीम का रहेंगे हिस्सा 

इनसाइड स्पोर्ट्स के मुताबिक बीसीसीआई के अधिकारी ने आगे बात करते हुए कहा कि रविचंद्रन अश्विन टेस्ट में हमारी योजनाओं का अहम हिस्सा हैं. खासकर घर और भारतीय उपमाहद्वीप में. यह टीम मैनेजमेंट पर निर्भर करता है कि वे उसे कब और कैसे इस्तेमाल करना चाहते हैं, लेकिन इस तरह की पारियों (एजबेस्टन में शतक) से आप रवींद्र जडेजा को किसी भी फॉर्मेट में नजरअंदाज नहीं कर सकते

भारत के लिए खेले तीनों ही फॉर्मेट 

भारतीय टीम के खेले तीनों ही फॉर्मेट रविचंद्नन अश्विन ने टीम इंडिया के लिए तीनों ही फॉर्मेट खेले हैं और उन्होंने अपने दम पर भारत को कई मैच जिताए हैं. अश्विन ने 86 टेस्ट मैचों में 442 विकेट हासिल किए हैं. वहीं, 112 वनडे मैचों में 151 विकेट और 51 टी20 मैचों में 61 विकेट हासिल किए हैं. 

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की सर्वश्रेष्ठ हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here