महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट पर क्या है सीएम उद्धव ठाकरे का स्टैंड? ये बड़ी जानकारी आई सामने

0
25


Political Crisis in Maharashtra: महाराष्ट्र (Maharashtra) में जारी सियासी संकट (Political Crisis) के बीच सूत्रों से इस बात की जानकारी मिली है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) के मंत्रिमंडल (Cabinet) में शामिल मंत्रियों ने सीएम उद्धव को फ्लोर टेस्ट (Floor Test) करवाने के लिए कहा है. मंत्रियों ने भी सीएम को इस बात का भरोसा दिया है कि वो फ्लोर टेस्ट (Floor Test) के दौरान उनके साथ रहेंगे. हालांकि जानकारी इस बात की भी सामने आ रही है कि अभी संख्या बल (Number of MLAs) को लेकर थोड़ा संशय हो सकता है. 

इस बीच कैबिनेट की बैठक खत्म हो गई और कैबिनेट में मौजूद मंत्रियों ने मीडिया से बातचीत में बताया कि महाराष्ट्र सरकार पर किसी तरह का खतरा नहीं है और ना ही इस बैठक में सरकार पर खतरे को लेकर कोई चर्चा की गई. मंत्रियों ने बताया कि ऐसा इस वजह से किया गया क्योंकि ये कैबिनेट की मीटिंग के एजेंडे में नहीं था.  वहीं महाराष्ट्र सरकार के मंत्री सुभाष देसाई ने बताया कि कल राज्य कैबिनेट की बैठक भी होगी और उन्होंने इस बात का भी दावा किया कि सरकार में सब कुछ सामान्य.

औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजी नगर रखने की मांग
महाराष्ट्र कैबिनेट के मंत्री और शिवसेना नेता अनिल परब ने कैबिनेट की बैठक में मांग उठाई है कि महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले का नाम बदलकर संभाजी नगर कर दिया जाए. उन्होंने कहा कि कल कैबिनेट की मीटिंग में इस बात को लेकर भी चर्चा की जाएगी. वही इसके पहले उद्धव ठाकरे ने अपनी सरकार पर छाए संकट के बादलों के बीच बागी विधायकों के नाम एक भावनात्मक संदेश जारी किया है. इस संदेश से उद्धव ने अपने बागी विधायकों को मनाने की कोशिश की है. उद्धव ने कहा आप पिछले काफी दिनों गुवाहाटी में फंसे हुए हैं मुझे हर दिन आपकी जानकारी मिलती है. आपके परिजन भी यहां परेशान हैं. 

सीएम ठाकरे ने बागी विधायकों से की ये अपील
महाराष्ट्र (Maharashtra)के सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने बागी विधायकों (Rebel MLAs) को जारी किए गए संदेश में कहा है, मैं बतौर शिवसेना (Shiv Sena) परिवार का मुखिया आपकी भावनाओं की कद्र करता हूं. परिवार के मुखिया के रूप में, मैं आपको दिल से इस बात का निवेदन करता हूं कि आप एक बार बाहर आइए. साथ बैठें और रास्ता निकालें. आप किसी भी गलत बातों के झांसे में ना आएं. ये जान लीजिए कि जो सम्मान शिवसेना ने आपको दिया है वो सम्मान आपको कोई नहीं दे सकता है. बतौर शिवसेना परिवार का मुखिया मुझे आज भी आप की चिंता है.”

यह भी पढ़ेंः
Maharashtra: ‘ये विद्रोह नहीं बल्कि शिवसेना के स्वाभिमान की लड़ाई है’,  केसरकर ने उद्धव को दी बीजेपी से गठबंधन की सलाह

Maharashtra Crisis: आदित्य ठाकरे की बागी विधायकों को चुनौती, इस्तीफा देकर चुनाव लड़कर दिखाएं



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here