शिवलिंग को लेकर पोस्ट करने वाले DU प्रोफेसर रतन लाल की आज हो सकती है गिरफ्तारी

0
16


DU Professor Ratan Lal May Be Arrested:  ज्ञानवापी मस्जिद परिसर से मिले शिवलिंग को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल के ऊपर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. इस मामले में प्रोफेसर रतन लाल की आज गिरफ्तारी हो सकती है. डीयू के प्रोफेसर रतन लाल के खिलाफ बुधवार को FIR दर्ज की गई थी. उनके खिलाफ गैर जमानती धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. उन पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगा है. शिवलिंग को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल के खिलाफ दिल्ली पुलिस में शिकायत की गई थी.

दिल्ली यूनिविर्सिटी के प्रोफेसर रतनलाल, इतिहास के प्रोफेसर हैं और ज्ञानवापी पर मचे विवाद के बीच अपने इतिहास ज्ञान से इन्होंने कुछ ऐसे सवाल कर दिए हैं, जिस पर खूब बवाल हो रहा है. ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के भीतर हिंदू पक्ष के दावे के मुताबिक जो शिवलिंग मिला है, उसे लेकर रतनलाल ने सोशल मीडिया पर एक विवादित पोस्ट किया था. प्रोफेसर रतन लाल पर हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप लग रहे हैं और इसी आरोप को लेकर प्रोफेसर रतनलाल के खिलाफ दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने IPC की कई धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है.

डीयू प्रोफेसर रतन लाल पर गिरफ्तारी की तलवार

पुलिस के मुताबिक FIR गैर जमानती धाराओं में दर्ज किया गया है. और मुमकिन है कि आज उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया जाए. हालांकि एबीपी न्यूज से बात करते हुए प्रोफेसर रतनलाल ने सारे आरोपों को खारिज किया. इस दलील के साथ कि उनके पोस्ट में लिखी लाइनों में यदि और शायद सब कुछ लगा है. प्रोफेसर का कहना है कि उनकी पोस्ट में यदि शायद सब कुछ लगा हुआ है, ये जो टीवी डिबेट में मौलाना और पंडित जी बैठते हैं यह पहले बताएं कि वह लिंग तोड़ा गया है या काटा गया है. साफ दिख रहा है उस तस्वीर में 5 कट बने हुए हैं अगर काटा गया है तो किसने काटा किसके शासनकाल में कटा और क्यों काटा.

हिन्दुओं की भावना को आहत करने के आरोप

प्रोफेसर रतनलाल अपने पोस्ट से हिंदुओं की भावना को आहत करने के आरोप को भी नकार रहे हैं. उन्होंने कहा कि मैंने एक संभावना व्यक्त की है यहां किसी भी चीज पर रिलीजियस सेंटीमेंट्स हर्ट हो सकता है. खाली सुनना हो तो हर चीज से सेंटीमेंट हर्ट हो जाएगा. खाली सुनने से बौद्धिक विमर्श क्या होगा. मैं तो कह रहा हूं अगर इंटेंसली तोड़ा गया काटा गया है तो वहां के पॉपुलेशन को चिढ़ाने के लिए काटा गया होगा.

ये भी पढ़ें:

Gyanvapi Mosque Case: ज्ञानवापी मामले की आज देश की सबसे बड़ी अदालत में सुनवाई, मस्जिद कमेटी ने सर्वे के आदेश को दी है चुनौती

वीएचपी ने क्या कहा?

प्रोफेसर रतनलाल सफाई दे रहे हैं तो इस बीच वीएचपी की ओर से रतनलाल के बयान पर नाराजगी जताते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग की गई है. प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि ऐसे लोगों को हिंदू समाज की सहिष्णुता की परीक्षा लेने से बाज आना चाहिए. भगवान शिव के ज्योतिर्लिंग और हिंदू आस्था का अपमान करने वालों के विरूद्ध कठोरतम कार्यवाही जरुरी है.

ये भी पढ़ें:

Gyanvapi Mosque Case: ज्ञानवापी मुद्दे पर आरएसएस ने क्या कहा? जानें



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here