IPL Final: 2012 में KKR के अंजान खिलाड़ी ने छीनी थी चेन्नई से ट्रॉफी, इस बार सामने अंजानों की फौज, क्या देखने को मिलेगा ‘रीप्ले’

0
6


दुबई. आईपीएल 2021 (IPL 2021) के फाइनल का मंच सज चुका है. तीन बार की चैंपियन टीम सीएसके (Chennai Super Kings) की भिड़ंत 15 अक्टूबर शुक्रवार को केकेआर (Kolkata Knight Riders) से होगी. सीएसके ने तीन बार जबकि केकेआर ने 2 बार आईपीएल का खिताब जीता है. केकेआर के पास मैच में मनोवैज्ञानिक बढ़त होगी. वजह है पिछला रिकॉर्ड. केकेआर की टीम कभी भी आईपीएल का फाइनल नहीं हारी है. दूसरी ओर टीम ने 2012 के फाइनल में सीएसके को ही मात दी थी. 2012 में केकेआर के अंजान चेहरे मानविंदर बिस्ला (Manvinder Bisla) ने फाइनल में विजयी पारी खेली थी. मौजूदा सीजन में केकेआर की ओर से कई अंजान चेहरे जीत में अहम भूमिका रहे हैं. ऐसे में क्या इस बार फिर ऐसा ही रीप्ले देखने को मिलेगा. इसके लिए हमें इंतजार करना होगा.

2012 के आईपीएल फाइनल की बात करें तो उस समय टीम के मुख्य बल्लेबाज ब्रेंडन मैक्कुलम मुकाबले से पहले चोटिल हो गए थे. इस कारण मानविंदर बिस्ला को फाइनल खेलने का मौका मिला था. मैक्कुलम अभी केकेआर के कोच हैं. मैच में सीएसके ने अपने घरेलू मैदान चेन्नई में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. टीम ने 3 विकेट पर 190 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. टीम की ओर से सुरेश रैना ने 73 और माइक हसी ने 54 रन बनाए थे. मुरली विजय ने भी 42 रन की पारी खेली थी.

बिस्ला ने खेली फाइनल में यादगार पारी

लक्ष्य का पीछा करने उतरी केकेआर की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. कप्तान गौतम गंभीर (2) पहले ही ओवर में आउट हो गए थे. इसके बाद मानविंदर बिस्ला (89) और जैक कैलिस (69) ने दूसरे विकेट के लिए 136 रन जोड़कर टीम की जीत की नींव रखी थी. बिस्ला ने 48 गेंद का सामना किया था. 8 चौके और 5 छक्के लगाए थे. टीम ने लक्ष्य को 19.4 में 5 विकेट पर हासिल कर लिया था.

अय्यर से लेकर राहुल तक इंटरनेशनल मुकाबले नहीं खेले

केकेआर के 2 मुख्य बल्लेबाजों की बात करें तो वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) और राहुल त्रिपाठी (Rahul Tripathi) के पास इंटरनेशनल मैच खेलने का अनुभव नहीं है. इतना ही नहीं अय्यर मौजूदा सीजन से ही आईपीएल डेब्यू कर रहे हैं, लेकिन दोनों बल्लेबाजों ने मौजूदा सीजन में कमाल का प्रदर्शन किया है. अय्यर 9 मैच में 40 की औसत से 320 रन बना चुके हैं. 3 अर्धशतक लगाया है. स्ट्राइक रेट 125 का है. वहीं राहुल भले ही टीम की ओर से रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर हैं, लेकिन वे अपनी आक्रामक बल्लेबाजी से मैच का रुख पलट देते हैं. वे अब तक 15 पारियों में 30 की औसत से 395 रन बना चुके हैं. 2 अर्धशतक लगाया है. स्ट्राइक रेट 141 का है, जो टी20 के लिहाज से बेहतरीन है.

यह भी पढ़ें: IPL Final: एक टीम से खेलने वाले ऋतुराज गायकवाड़ और राहुल त्रिपाठी बने दुश्मन! फाइनल में दिखेगी रोचक जंग

यह भी पढ़ें: IPL Final 2021: एमएस धोनी जीत चुके हैं 6 टी20 के खिताब, बतौर कप्तान अब बनाएंगे नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

नीतीश राणा और वरुण चक्रवर्ती के पास भी अनुभव नहीं

नीतीश राणा (Nitish Rana) के पास सिर्फ 3 इंटरनेशनल मैच का अनुभव है. वे टीम इंडिया के मुख्य खिलाड़ियों में नहीं हैं. लेकिन मौजूदा सीजन में उन्होंने भी कमाल का खेल दिखाया है. वे 15 पारियों में 32 की औसत से 383 रन बना चुके हैं. 2 अर्धशतक लगाया है. स्ट्राइक रेट 122 का है. वहीं लेग स्पिनर वरुण चक्रवर्ती (Varun Chakravarthy) भले ही टी20 वर्ल्ड कप टीम में शामिल हैं, लेकिन उनके पास सिर्फ 2 इंटरनेशनल मैच का अनुभव है. लेग स्पिनर वरुण ने 16 मैच में 18 विकेट लिए हैं. इकोनॉमी 6.40 की है, जो बेहद शानदार है. वहीं युवा बल्लेबाज शुभमन गिल ने टीम की ओर से सबसे अधिक 427 रन बनाए हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here