पत्नी के चरित्र पर था शक, चाकू से वार कर हत्या करने के बाद शव को सूरज कुंड की झाड़ियों में फेंका

0
21


Delhi Crime News: सिविल डिफेंस में काम करने वाले एक युवक निज़ामुद्दीन ने जब सिविल डिफेंस में ही नई भर्ती आई एक युवती राबिया को देखा तो वह उस पर मोहित हो गया. उसने राबिया की मदद की, उसका आई कार्ड बनवाया. दोनों के बीच मुलाकातों का दौर शुरू हो गया. इसी साल जून में दोनों ने प्रेम विवाह भी कर लिया, लेकिन शादी करने के बाद युवक को अपनी पत्नी के चरित्र पर शक हो गया.

गुरुवार को वह अपनी पत्नी को सूरजकुंड ले गया और वहां पर उसके चरित्र से संबंधित सवाल करने लगा. उसे समझाने लगा. दोनों के बीच झगड़ा हो गया. इसके बाद युवक ने चाकू से वार कर अपनी पत्नी की हत्या कर दी और उसके शव को पाली रोड, फरीदाबाद में झाड़ियों में फेंक दिया. युवक वापस अपने घर लौट आया, लेकिन रात भर उसे गिलानी होती रही, जिसके बाद शुक्रवार सुबह वह कालिंदी कुंज थाने पहुंचा और अपने अपराध का खुलासा पुलिस के सामने करते हुए पत्नी की हत्या करने की बात को कबूल की. पुलिस ने तुरंत इसकी जानकारी फरीदाबाद पुलिस को दी जहां से कुछ समय बाद यह वेरीफाई हो गया. वहां पर एक महिला का शव बरामद किया गया है जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

क्या है मामला

साउथ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी आरपी मीणा ने बताया कि शुक्रवार सुबह निज़ामुद्दीन कालिंदी कुंज थाने पहुंचा और खुलासा किया कि उसने अपनी पत्नी राबिया की हत्या कर दी है. उसने बताया कि 26 अगस्त को वह अपनी पत्नी राबिया को सूरजकुंड, फरीदाबाद ले गया था, जहां उसकी हत्या कर दी. आरोपी ने पुलिस को बताया वह सिविल डिफेंस में हाउस फायर पार्टी के तौर पर काम करता है. इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस ने सूरजकुंड थाना पुलिस से बात की, जहां से पता चला कि वहां एक महिला का शव मिला है. आज ही वहां पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ है.

जनवरी 2020 में हुई थी दोनों की मुलाकात

निज़ामुद्दीन ने पुलिस को बताया कि पिछले साल जनवरी में उसकी मुलाकात संगम विहार इलाके की रहने वाली राबिया से डीएम ऑफिस, लाजपत नगर में हुई थी. उसका चयन सिविल डिफेंस में हुआ था. उसने राबिया का आईकार्ड बनवाने में मदद की थी. बाद में दोनों की दोस्ती हो गई. इस साल 11 जून को दोनों ने कोर्ट में शादी कर ली. निज़ामुद्दीन का कहना है कि शादी के बाद उसे पता चला कि राबिया के कुछ अन्य लोगों से रिलेशन हैं.

उसने राबिया को सही रास्ते पर लाने की कोशिश की, लेकिन वह कामयाब नहीं हुआ. 26 अगस्त को वह लाजपत नगर से राबिया को बाइक पर बिठाकर सूरजकुंड ले गया. वहां पहुंच कर उसने राबिया से इस मुद्दे पर बात की. उसे समझाया. तभी उसकी राबिया के साथ कहासुनी हो गई. इसके बाद तैश में आकर उसने राबिया के ऊपर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर दिए. राबिया ने दम तोड़ दिया, जिसके बाद उसकी लाश को वहीं पास ही झाडियों में खींचकर ठिकाने लगा दिया.

ABP Shikhar Sammelan: अखिलेश यादव गठबंधन, सीएम योगी, असदुद्दीन ओवैसी, जातिगत जनगणना, किसान, तालिबान को लेकर क्या बोले? जानें

ABP Shikhar Sammelan: समाजवादी पार्टी में विलय और भतीजे अखिलेश यादव को लेकर क्या बोले शिवपाल यादव? जानें



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here