free website stats program
Home Blog

Over 19,760 Covid scenarios from August 1-10 in Delhi

0


Additional than 19,760 COVID-19 circumstances have been recorded in Delhi from August 1-10, as per formal details shared by the town wellness section. Apart from, there has been a virtually 50 per cent increase in the variety of containment zones in the town throughout this period.

On August 1, the nationwide funds had logged 822 scenarios with a positivity rate of 11.41 for every cent and two deaths.

The figures greater drastically in the upcoming several days amid a surge in coronavirus scenarios in the city in the last several weeks.

On August 2, the daily scenarios rely breached the 1,000-mark as the city noted 1,506 instances and 3 fatalities. The positivity rate was recorded at 10.63 for each cent, as for every the facts.

The extremely upcoming day, on August 3, the depend crossed the 2,000-mark and till date, barring August 8, the day-to-day instances have been logged in surplus of 2,000 with an escalating positivity fee that is inching closer to 20 for every cent.

The variety of fatalities in the previous a few days also mounted drastically compared to the figures previously.

Delhi on Wednesday documented eight fatalities due to coronavirus, the greatest in just about 180 times, and 2,146 new situations with a positivity fee of 17.83 for every cent. The lively circumstances stood at 8,205, in accordance to details shared by the overall health section.

The countrywide capital experienced on February 13 described 12 fatalities due to the viral condition.

On August 9, Delhi documented 2,495 coronavirus instances with a positivity charge of 15.41 for every cent and 7 fatalities, while the range of active instances stood at 8,506.

The national cash saw 1,372 infections and 6 deaths on August 8 with a positivity fee of 17.85 for each cent, the greatest given that January 21, as per the knowledge. On January 21, the positivity price had stood at 18.04 per cent.

The quantity of active instances on Monday stood at 7,484 while the depend was 4, 274 on August 1.

The whole amount of conditions recorded all through the August 1-10 period stands at 19,769.

Delhi has recorded 40 deaths because of to COVID-19 in this 10-day period, virtually thrice the cumulative figures registered in the past 10 times of July when 14 folks experienced succumbed to the viral disease, according to official data.

In Delhi, almost all metrics these types of as property isolation situations, containment zones, positivity rate and lively cases, made use of in the checking of the unfold of coronavirus have proven a soaring development in the very first 10 days of August.

The number of containment zones on August 1 experienced stood at 173, which little by little elevated to 259 on August 10.

As a lot of as 5,549 people are in property isolation as on August 10. The corresponding figure on August 1 was 3,161.

Delhi’s tally of COVID-19 circumstances on Wednesday had greater to 19,75,540, whilst the death toll rose to 26,351, as per the health and fitness bulletin issued on August 10.

The amount of each day COVID-19 situations in the city experienced touched the history high of 28,867 on January 13 this year through the 3rd wave of the pandemic.

It experienced recorded a positivity price of 30.6 for each cent on January 14, the best throughout the third wave of the pandemic.



Supply backlink

Gastric Headache: एसिडिटी के कारण हो सकता है सिर में दर्द, अपनाएं ये घरेलू चीजें, जल्द मिलेगा आराम

0


सिरदर्द के कई कारण होते हैं और इनमें से एक है एसिडिटी. पेट में गैस बनने से आपको सिरदर्द की समस्या होती है. एक स्टडी के अनुसार, हमारे पेट और दिमाग के बीच एक गहरा लिंक होता है. कुछ लोगों को गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम में दिक्कत के कारण सिरदर्द होता है. अगर आपने एसिडिटी और सिरदर्द का इलाज नहीं करवाया तो परेशानी और बढ़ सकती है. हालांकि कुछ घरेलू चीजों का इस्तेमाल करने भी आप सिरदर्द और एसिडिटी दोनो से राहत पा सकते हैं.

नींबू पानी
सिरदर्द से छुटकारा पाने का एक बेहतरीन उपाय है नींबू पानी. नींबू में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं. गुनगुने पानी में एक नींबू का रस मिलाकर पीने से आपको गैस के कारण होने वाले सिरदर्द से राहत मिलती है.

तुलसी के पत्ते
तुलसी के पत्तों में एनाल्जेसिक गुण पाया जाता है, जो आपके लिए फायदेमंद साबित होता है. रोजाना तुलसी की पत्तियों को चबाने से सिरदर्द कम होता और आपकी मांसपेशियों को भी आराम मिलता है.

पुदीना
एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर पुदीना आपके पेट और गले की जलन को शांत करता है. पुदीना खाने से आपको एसिडिटी से आराम मिलता है.

हाइड्रेटेड रहें
शरीर में पानी की कमी से सिरदर्द हो सकता है. ऐसे में आपको रोजाना 10-12 गिलास पानी पीना चाहिए. इससे आप हाइड्रेटेड रहेंगे और एसिडिटी से भी आराम मिलेगा.

अच्छी डाइट
आप डेली डाइट में व्हाइट राइस, ब्राउन राइस, पोहा, मूंग दाल, अरहर दाल, उड़द दाल, साबूदाना, इडली, डोसा जैसी चीजों को शामिल कर सकते हैं. ये सारी चीजें आपके पेट के लिए काफी फायदेमंद होती हैं.

Disclaimer:
इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link

लॉन्चिंग को तैयार है Redmi K50 एक्सट्रीम एडिशन स्मार्टफोन, मिलेगा 108MP कैमरा

0


हाइलाइट्स

Xiaomi अपना Redmi K50 एक्सट्रीम एडिशन फोन लॉन्च करने के लिए तैयार है.
यह फोन Remdi K50 सीरीज के अपग्रेडेड वर्जन होगा.
फोन में 108 MP ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप मिलेगा.

नई दिल्ली. चीनी स्मार्टफोन ब्रांड Xiaomi चीन में अपना Redmi K50 एक्सट्रीम एडिशन लॉन्च करने के लिए पूरी तरह तैयार है. स्मार्टफोन ब्रांड ने Weibo के जरिए इसकी पुष्टि की है. Xiaomi द्वारा फोन के कई पोस्टर साझा किए गए हैं, जो Redmi K50 एक्सट्रीम एडिशन के डिजाइन और कुछ स्पेसिफिकेशंस का खुलासा करते हैं.

Redmi K50 एक्सट्रीम का अपकमिंग वर्जन क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 8+ Gen 1 SoC द्वारा संचालित होगा और इसमें 120Hz स्क्रीन रिफ्रेश रेट डिस्प्ले होगा. फोन में 108 MP ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप मिलेगा. इसके अलावा इस स्मार्टफोन के होल-पंच डिस्प्ले डिजाइन के साथ आने की उम्मीद है. उल्लेखनीय है कि Xiaomi के इस आगामी स्मार्टफोन को Remdi K50 सीरीज के अपग्रेडेड वर्जन के तौर पर लॉन्च किया जाएगा. Redmi K50 Pro के साथ Redmi K50 को मार्च में चीन में लॉन्च किया गया था.

लॉन्च होने के लिए तैयार है फोन
पोस्टर के अनुसार Redmi K50 एक्सट्रीम एडिशन को चीन में 11 अगस्त 2022 को शाम 4 बजे लॉन्च किया जाएगा. यह हैंडसेट सिल्वर ट्रेस रंग में उपलब्ध है और लॉन्च के तुरंत बाद अन्य रंगों का खुलासा हो सकता है. Xiaomi के इस आगामी स्मार्टफोन को Remdi K50 सीरीज के अपग्रेडेड वर्जन के तौर पर लॉन्च किया जाएगा.

यह भी पढ़ें- स्मार्टफोन, टैब जैसी सभी डिवाइस के लिए एक ही चार्जर होने की उम्मीद, सरकार कर रही तैयारी

5000mAh की दमदार बैटरी
कथित तौर पर Redmi K50 एक्सट्रीम एडिशन में OLED डिस्प्ले हो सकता है. यह 120W फास्ट चार्जिंग द्वारा सपोर्टिड 5000mAh का बैटरी बैकअप पैक कर सकता है. स्मार्टफोन में 108 एमपी के मुख्य कैमरा सेंसर के अलावा 8 एमपी सेंसर और 2 एमपी सेंसर हो सकता है. फ्रंट कैमरे की बात करें तो यह 20MP के सेंसर के साथ आ सकता है.

फ्लैगशिप सीरीज का तीसरा फोन
रेडमी का यह फोन कंपनी की फ्लैगशिप सीरीज K50 का हिस्सा है. इससे पहले कंपनी इस सीरीज में Redmi K50 Pro और Redmi K50 स्मार्टफोन को लॉन्च कर चुकी है. रेडमी K50 स्मार्टफोन मीडियाटेक डाइमेंसिटी 9000 चिपसेट से लैस है. वहीं, रेडमी K50 मीडियाटेक डाइमेंसिटी 8100 प्रोसेसर के साथ आता है. लिक्विड कूलिंग टेक्नोलॉजी के साथ आने वाले इन दोनों हैंडसेट में डॉल्बी विजन और 2K रेजॉलूशन के साथ 120Hz के रिफ्रेश रेट वाला डिस्प्ले दिया गया है.

Tags: Mobile Phone, Redmi, Smartphone, Tech news, Tech News in hindi, Xiaomi



Source link

VIDEO: शिमरोन हेटमायर ने पकड़ा हैरतअंगेज कैच, सीमारेखा के पास नामुमकिन कैच को बनाया मुमकिन

0


नई दिल्ली. वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के बीच जारी तीन मैचों की टी20 इंटरनेशनल सीरीज का पहला मुकाबला 10 अगस्त को सबीना पार्क (Sabina Park) में खेला गया. इस मुकाबले में कैरेबियन खिलाड़ी शिमरोन हेटमायर (Shimron Hetmyer) ने सीमारेखा के पास एक शानदार कैच लपकते हुए सबको हैरान कर दिया है. दरअसल वेस्टइंडीज के लिए आठवां ओवर ओडियन स्मिथ (Odean Smith) फेंक रहे थे. इस ओवर की तीसरी गेंद पर कीवी सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल (Martin Guptill) ने बड़ा शॉट लगाने का प्रयास किया. गप्टिल कुछ हद तक इसमें सफल भी रहे, लेकिन सीमारेखा के पास क्षेत्ररक्षण कर रहे हेटमायर ने एक बेहतरीन कैच लपकते हुए उनके इरादों पर पारी फेर दिया. गप्टिल अपनी टीम के लिए पहले टी20 मुकाबले में 16 रन बनाने में कामयाब रहे.

बात करें इस मुकाबले के बारे में तो इस रोमांचक मुकाबले में वेस्टइंडीज के कप्तान निकोलस पूरन ने टॉस जीतकर कीवी टीम को पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया था. मेजबान टीम द्वारा मिले निमंत्रण को स्वीकार करते हुए कीवी टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 185 रन बनाने में कामयाब रही. टीम के लिए नियमित कप्तान केन विलियमसन ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 33 गेंद में चार चौके एवं दो छक्के की मदद से 47 रन की सर्वाधिक महत्वपूर्ण पारी खेली. इसके अलावा डेवोन कॉनवे ने 29 गेंद में 43 और जेम्स नीशम ने 15 गेंद में नाबाद 33 रनों का योगदान दिया.

यह भी पढ़ें- ‘शर्मा जी’ का कमाल, धोनी और कोहली को पछाड़ इस मामले में बनें देश के नंबर-1 कप्तान

न्यूजीलैंड द्वारा दिए गए 186 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज की टीम निर्धारित ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 172 रन ही बना सकी. टीम के लिए शमर ब्रूक्स ने पारी की शुरुआत करते हुए 42 रनों की जुझारू पारी खेली. हालांकि वह भी टीम को जीत दिलाने में नाकामयाब रहे. कीवी टीम के लिए पहले टी20 मुकाबले में सबसे सफल गेंदबाज मिशेल सेंटनर रहे. उन्होंने टीम के लिए चार ओवर की गेंदबाजी करते हुए सर्वाधिक तीन सफलता प्राप्त की. पहले टी20 मुकाबले में उन्हें उम्दा गेंदबाजी के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया.

Tags: Cricket, Cricket news, New Zealand cricket, West Indies Cricket Team





Source link

Team India: IPL के बाद से ही मौके का इंतजार कर रहा ये घातक बॉलर, माना जाता है अगला जहीर खान

0


Team India: भारतीय क्रिकेट टीम इस वक्त लगातार अलग-अलग देश की टीमों के खिलाफ सीरीजों में भिड़ रही है. सेलेक्टर्स लगातार युवा खिलाड़ियों को खेलने का मौका दे रहे हैं, ताकि आगामी टी20 वर्ल्ड कप में एक शानदार टीम बनाई जा सके. जहां सभी खिलाड़ियों को खेलने के भरपूर मौके मिल रहे वहीं, एक खिलाड़ी ऐसा है जिसने आईपीएल 2022 में कमाल का प्रदर्शन किया था. लेकिन वो अबतक अपनी बारी का इंतजार कर रहा है. 

क्यों नहीं मिल रहा इस खिलाड़ी को मौका?

आईपीएल 2022 में युवा भारतीय गेंदबाज मोहसीन खान ने कमाल का प्रदर्शन किया था. मोहसीन लखनऊ सुपरजायंट्स के लिए आईपीएल 2022 में खेले थे. उन्होंने पावप्ले में कमाल की गेंदबाजी करके खूब विकेट निकाले थे. लेफ्ट आर्म पेसर मोहसीन को खेल पाना दुनियाभर के बल्लेबाजों के लिए मुश्किल हो रहा था. लेकिन सेलेक्टर्स उन्हें जिम्मबावे और वेस्टइंडीज जैसी कमजोर टीमों के खिलाफ भी मौका नहीं दे रहे हैं. ऐसे में इस गेंदबाज का करियर बाहर बैठे बर्बाद हो रहा है.

जगह पाने के थे दावेदार

IPL 2022 में अपने प्रदर्शन से गदर मचा रहे बाएं हाथ से गेंदबाजी करने वाले भारतीय तेज गेंदबाज मोहसिन खान को नहीं चुनकर सेलेक्टर्स ने हर किसी को हैरत में डाल दिया, जबकि ये खिलाड़ी टीम इंडिया में एंट्री का सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा था. मोहसिन खान लगभग 150 Kmph की रफ्तार से तेज गेंदबाजी करते हुए गेंद को स्विंग कराने में माहिर हैं. मोहसिन की तेज गेंदबाजी में भारत के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज जहीर खान की झलक देखने को मिलती है.   

आईपीएल में किया था कमाल

मोहसिन खान ने IPL 2022 में लखनऊ सुपर जायंट्स के लिए खेलते हुए 8 मैचों में 13 विकेट हासिल किए हैं. इस दौरान उनका इकॉनमी रेट 5.93 का रहा है. मोहसिन खान का IPL में बेस्ट बॉलिंग प्रदर्शन 16 रन देकर 4 विकेट हासिल करना रहा है. जहां अर्शदीप सिंह और आवेश खान जैसे खिलाड़ियों को सेलेक्टर्स लगातार मौका दे रहे हैं, वहीं मोहसीन अबतक अपनी बारी का इंतजार लंबे समय से कर रहे हैं. 

एशिया कप के लिए टीम इंडिया:

रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (उपकप्तान), विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, दीपक हुड्डा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, युजवेंद्र चहल, रवि बिश्नोई, भुवनेश्वर कुमार अर्शदीप सिंह, आवेश खान.





Source link

दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया से लाए जा रहे चीतों का प्लान टला, करना होगा और दो हफ्ते इंतजार

0


Kuno National Park: मध्य प्रदेश में श्योपुर जिले के पालपुर कूनो अभयारण्य में दक्षिण अफ्रीका के चीतों को 15 अगस्त तक लाने की तैयारियों को धक्का लगा है. खबर ये है कि चीतों को लाने में अब दो हफ्ते की देरी और होगी. देरी की ये वजह है कि दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति और भारतीय उच्चायोग के बीच अभी दस्तावेज पर दस्तखत नहीं हुये हैं. जिससे इस प्रोजेक्ट में देरी हो रही है.

दक्षिण अफ्रीका, नामीबिया से चीतों को लाया जा रहा
दुनिया में ये अनूठा प्रयोग है कि अफ्रीका महाद्वीप से एशिया महाद्वीप में चीतों को बसाया जा रहा है. दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया से चीतों को लाया जा रहा है. दक्षिण अफ्रीका से सात नर और पांच मादा चीतों को तो नामीबिया से चार नर और चार मादा चीतों को भारत आने की सहमति बन गई है.

मध्य प्रदेश के वन विभाग की ओर से पालपुर कूनो में चीतों को रखने के पूरे इंतजाम कर लिये गये हैं. यहां पर बडे-बडे एनक्लोजर बनाये गये हैं. जहां पर नर और मादा को अलग-अलग रखा जायेगा. फिलहाल परेशानी यही है कि इन इनक्लोजर में तेदुओं ने अपना घर बना लिया था. जिसमें से कुछ तेदुओं को पकड़ लिया गया है तो एक दो को पकड़ना अभी बाकी है. तेदुओं को पिंजरे लगाकर पकडा जा रहा है. ये तेदुएं नहीं पकडे गये तो नये मेहमानों को परेशानी पैदा करेंगे.

Raju Srivastava: राजू श्रीवास्तव की सेहत में नहीं हो रहा सुधार, जानिए अब कैसी ही कॉमेडियन की हालत

दिल्ली से वायुसेना के हेलीकॉप्टर से लाया जाएगा
दक्षिण अफ्रीका से चीतों को लाने के लिये खास तैयारी की गयी है. जोहान्सबर्ग से पिंजड़ों में चीतों को दिल्ली लाया जायेगा. उसके बाद इनको वायुसेना के हेलीकॉप्टर से सीधे कूनो में बने हेलीपैड में उतार दिया जायेगा. वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी जेएस चौहान का कहना है कि चीते अगस्त महीने में ही आयेंगे मगर किस तारीख का आयेंगे ये बताना संभव नहीं है.

चीतों के आने, जाने और रहने का पूरा प्लान तैयार है. ये मध्य प्रदेश के लिये बड़ी सौगात है. वैसे ये पालपुर कूनो अभयारण्य गुजरात के शेरों के लिये विकसित किया गया था. मगर गुजरात के अडने से अब चीतों से ये गुलजार होगा.

चुनाव में मुफ्त की योजनाओं पर SC में सुनवाई जारी, हलफनामा मीडिया में प्रकाशित होने पर कोर्ट ने जताई नाराजगी, याचिकाकर्ता के वकील ने दी ये दलील



Source link

Bhool Bhulaiyaa 3: भूल भुलैया के अगले पार्ट में इस हसीना संग रोमांस करेंगे कार्तिक आर्यन, खूबसूरत कियारा का पत्ता कटा

0


Bhool Bhulaiyaa Sequel Part 3: कार्तिक आर्यन इन दिनों काफी खुश हैं क्योंकि उनकी हालिया रिलीज फिल्म उस कैटेगरी में शामिल हो चुकी है, जिन्होंन इस साल सबसे अच्छा परफॉर्म किया है. कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) की हाल ही में फिल्म रिलीज हुई थी, जिसका नाम है- ‘भूल भुलैया 2’ (Bhool Bhulaiyaa 2). अब इस फिल्म को लेकर तीसरा पार्ट बनने की भी तैयारी है और फिल्म को लेकर बड़ा अपडेट सामने आया है. निर्माताओं ने फिल्म के तीसरे पार्ट के लिए कमर कस ली है, लेकिन इस बार कियारा आडवाणी का पत्ता साफ होने वाला है और मेकर्स अब नए नाम पर चर्चा कर रहे हैं.

‘भूल भुलैया 3’ की प्लानिंग

बॉलीवुड स्टार कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) और कियारा आडवाणी (Kiara Advani) की हालिया रिलीज ब्लॉकबस्टर फिल्म भूल भुलैया 2 के बाद फिल्ममेकर्स सांतवे आसमान पर हैं. सुनने में आया है कि अपनी इस फिल्म की बंपर सक्सेस के बाद निर्माता फिल्म के तीसरे पार्ट की तैयारी में बिजी हो गए हैं. जिसके लिए निर्माताओं ने बड़ी प्लानिंग की है. सामने आ रही मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो फिल्म स्टार कार्तिक आर्यन को लेकर ‘भूल भुलैया 3’ (Bhool Bhulaiya 3) की प्लानिंग में हैं. 

बजट हुआ तैयार

इतना ही नहीं, फिल्म के तीसरे पार्ट ‘भूल भुलैया 3’ को मेकर्स और भी बड़े स्तर पर बनाने की तैयारी में हैं. सुनने में आया है कि फिल्म स्टार कार्तिक आर्यन की इस फिल्म को भी एकदम नई कहानी और नए अंदाज में पेश किया जाने वाला है. रिपोर्ट्स हैं कि भूल भुलैया 2 को जहां 90 करोड़ के बजट में बनाया गया था तो वहीं, फिल्म के तीसरे पार्ट को पूरे 140 करोड़ रुपये में बनाने की तैयारी है. इतना ही नहीं, फिल्म की लीड स्टारकास्ट को लेकर भी एक चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है.

कियारा का पत्ता कटा

सामने आ रहीं ताजा रिपोर्ट्स की मानें तो मेकर्स फिल्म के तीसरे पार्ट के लिए एक बड़ी एक्ट्रेस की तलाश में हैं. सुनने में आया है कि इस फिल्म के लिए मेकर्स दीपिका पादुकोण के नाम पर विचार कर रहे हैं. अभी तक एक्ट्रेस को मेकर्स ने अप्रोच नहीं किया है. अगर ऐसा हुआ तो दीपिका पादुकोण और कार्तिक आर्यन की जोड़ी एकदम फ्रेश होगी. जिसे ऑन स्क्रीन देखना एकदम अलग एक्सपीरियंस होगा. लेकिन अगर दीपिका पादुकोण इस फिल्म में एंट्री करती हैं तो हो सकता है कि कियारा आडवाणी की छुट्टी हो जाए.

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर 





Source link

Disney+ ने स्ट्रीमिंग कस्टमर्स के मामले में नेटफ्लिक्स को पीछे छोड़ा, कीमतों में होगी बढ़ोतरी

0


हाइलाइट्स

Disney+ के स्ट्रीमिंग कस्टमर की संख्या कुल 221 मिलियन हो गई है.
इसके साथ ही कंपनी ने नेटफ्लिक को पीछे छोड़ दिया है.
नेटफ्लिक्स के पास फिलहाल 220.7 मिलियन स्ट्रीमिंग सब्सक्राइबर हैं.

नई दिल्ली. वॉल्ट डिज्नी कंपनी (DIS.N) के स्ट्रीमिंग कस्टमर की संख्या कुल 221 मिलियन हो गई है. इसके साथ ही कंपनी ने नेटफ्लिक्स इंक (NFLX.O) को पीछे छोड़ दिया. कंपनी ने घोषणा की कि यह वह उन ग्राहकों के लिए कीमतों में वृद्धि करेगी, जो विज्ञापनों के बिना Disney+ या Hulu देखना चाहते हैं. दिग्गज कंपनी डिज़्नी+ दिसंबर में बिना विज्ञापन वाले ग्राहकों के लिए कीमतों में 38% फीसदी बढ़ाकर से 10.99 डॉलर कर देगी.

2017 में डिजनी ने नेटफ्लिक्स को टक्कर देने के लिए स्ट्रीमिंग सेवा शुरू की थी. उस समय दर्शक पारंपरिक केबल और प्रसारण टेलीविजन से ऑनलाइन स्ट्रीमिंमग की ओर शिफ्ट हो रहे थे. अपनी स्थापना के पांच साल बाद, डिज्नी ने कुल स्ट्रीमिंग ग्राहकों के मामले में नेटफ्लिक्स को पीछे छोड़ दिया है.

नेटफ्लिक्स को पछाड़ा
स्टार वार्स सीरीज ओबी-वान केनोबी और मार्वल की ‘मिस मार्वल’ रिलीज होने के बाद 14.4 मिलियन डिजनी+ कस्टमर्स कंपनी से जुड़े हैं. डिज्नी ने कहा कि जून तिमाही के अंत में उसके पास 221.1 मिलियन स्ट्रीमिंग कस्टमर्स थे, जबकि नेटफ्लिक्स के पास 220.7 मिलियन स्ट्रीमिंग सब्सक्राइबर हैं.

यह भी पढ़ें- Jio Independence Day Offer : जियो के साथ करे 2999 रुपये का रिचार्ज, एक साल तक पाएं फ्री डेटा और अन्य ऑफर

संघर्ष कर रही है नेटफ्लिक्स
Investing.com के विश्लेषक हारिस अनवर ने कहा कि जब नेटफ्लिक्स अधिक कस्टमर्स को जोड़ने के लिए संघर्ष कर रही है, तब डिज्नी बाजार में अधिक हिस्सेदारी हासिल कर रही है. डिज़्नी के पास अभी भी अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बढ़ने का मौका है. यह अपनी सेवा तेजी से शुरू कर रहा है और नए ग्राहकों को जोड़ रही है.

नया वर्जन पेश करेगी डिज्नी
कंपनी ने कहा है कि वह नए ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए डिज्नी 8 दिसंबर से एक विज्ञापन सपोर्टिड वर्जन की पेशकश करेगी, जिसकी कीमत 7.99 डॉलर होगी. एड फ्री वर्जन के लिए भी इतनी ही कीमत है. साथ ही दिसंबर से हुलु की कीमतें में भी एक से दो डॉलर तक बढ़ जाएंगी.

80 मिलियन डिजनी + हॉटस्टार कस्टमर्स जुड़ने की उम्मीद
कंपनी की चीफ फाइनेंशल ऑफिसर क्रिस्टीन मैकार्थी ने कहा कि डिजनी को सितंबर 2024 तक 80 मिलियन डिजनी + हॉटस्टार कस्टमर्स जुड़ने की उम्मीद है. मैकार्थी ने कहा कि कंपनी को अभी भी उम्मीद है कि उसकी स्ट्रीमिंग टीवी यूनिट वित्तीय वर्ष 2024 में लाभ कमाएगी. हालिया तिमाही में डिवीजन को 1.1 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ.



Source link

Ford CEO would not hope electric motor vehicle battery fees to drop whenever soon

0
Ford CEO doesn't expect electric vehicle battery costs to drop anytime soon


Ford CEO Jim Farley poses with the Ford F-150 Lightning pickup truck in Dearborn, Michigan, May perhaps 19, 2021.

Rebecca Prepare dinner | Reuters

WAYNE, Mich. – Ford Motor CEO Jim Farley does not assume the charges of uncooked products for the firm’s electric vehicles to relieve in the around long run, marking the latest signal that automakers will keep on climbing rates for their new EVs.

“I never imagine you will find going to be a great deal relief on lithium, cobalt and nickel at any time quickly,” Farley instructed reporters Wednesday in the course of an occasion at the automaker’s Michigan Assembly Plant.

Farley’s opinions occur a day following the Detroit automaker introduced it would be elevating the commencing selling prices for its electrical F-150 pickup thanks to “major materials price increases.” The boosts range from $6,000 to $8,500, dependent on the product. Ford isn’t really by itself: Rival Tesla amplified its U.S. prices in June.

Selling prices of all lithium, cobalt and nickel have risen sharply above the earlier yr as desire from battery makers has outpaced miners’ efforts to boost supply.

Farley said the speedy-growing prices of the minerals used in its present-day lithium-ion batteries are why Ford strategies to present lessen-price lithium iron phosphate, or LFP, batteries in motor vehicles these types of as the F-150 Lightning and Mustang Mach-E crossover.

“I you should not imagine we should be self-confident in any other outcomes, than an maximize in selling prices,” he mentioned. Which is why we feel LFP technology is vital … We want to make these inexpensive.”

Go through extra about electrical automobiles from CNBC Professional

Previous thirty day period, Ford claimed it will start off presenting LFP batteries from Chinese battery huge CATL that do not use nickel or cobalt as a reduced-price choice in the Mustang Mach-E following year. The company options to broaden the choice to the F-150 Lightning in 2024.

Ford also has invested in Colorado-based battery startup Stable Electricity, a person of a number of businesses performing to develop stable-condition batteries for electric powered autos. Sound-state batteries have the opportunity to give EV proprietors far more vary, shorter recharging instances, and a decreased hazard of fires than present-day batteries.

Solid Energy explained Tuesday that it really is on monitor to deliver prototype batteries to Ford and BMW, also an trader, by the close of the yr. But autos making use of the batteries are continue to at least a few a long time away.



Resource hyperlink

Google pushes Apple to adopt a new kind of text messaging, criticizes ‘green bubbles’

0
Google pushes Apple to adopt a new kind of text messaging, criticizes 'green bubbles'


Android mascots are lined up in the demonstration region at the Google I/O Builders Conference in the Moscone Center in San Francisco.

Beck Diefenbach | Reuters

Google, the developer of the Android, is rising the tension on Apple to adopt RCS, a future-generation conventional for text messaging.

It argues that Apple’s assistance of RCS would enable protect against some of the troubles that occur when Apple iphone customers text with Android proprietors. Currently, pictures and video will not show as plainly as they could, for case in point, and texts can’t be sent in excess of Wi-Fi networks.

Google executives have recommended that Apple will not assist RCS for the reason that its individual technique, iMessage, allows the Cupertino organization retain Apple iphone people by locking them into the Apple ecosystem.

In a web page and publicity campaign on Tuesday, Google blamed Apple for generating a substandard experience when iPhones text Android telephones or vice versa.

“We’re hoping that Android customers cease being blamed for ruining chats,” Google international vice president for integrated marketing and advertising for platforms, Adrienne Lofton, mentioned. “This is Apple that is accountable, and it is time to possess the obligation.”

The marketing campaign is a noteworthy escalation in an ongoing compatibility spat among the two corporations that dominate application for smartphones. Approximately all smartphones in the environment both run Android or Apple’s iOS, and Apple’s Apple iphone has around 55% of the U.S. market place, in accordance to StatCounter.

Google needs Apple to aid the RCS “normal,” or requirements that make it possible for many various businesses such as carriers or cellphone makers to build apps that can deliver and acquire RCS messages. Many Android telephones by now have developed-in messaging applications that help RCS.

A essential battleground

Messaging solutions have turn into a essential battleground for tech giants due to the fact if a user’s contacts all use the same services, then the person is “locked-in” and fewer most likely to change to a different system or app.

Fb father or mother Meta, which owns WhatsApp, has said that it competes straight with Apple since of how broadly used iMessage is in the United States. Messaging has also drawn attention from some policymakers who are pushing to drive competing providers to perform with each other beneath good competitiveness regulations.

Hiroshi Lockheimer, a Google senior vice president in charge of Android, claimed before this year that Apple is employing its personal text messaging system to lock in its shoppers, referring to inside Apple emails that had been created community all through a lawsuit past yr that confirmed senior Apple executives capturing down proposals to bring an iMessage application to Android.

Browse a lot more about tech and crypto from CNBC Pro

“I am worried iMessage on Android would simply just serve to take out an impediment to Iphone people supplying their little ones Android phones,” present Apple senior vice president in charge of program Craig Federighi wrote in 2013, according to an email.

Apple’s iMessage is marginally unique from other messaging expert services for the reason that it is the default text messaging application on the Iphone.

Apple’s systems detect when an Iphone texts a further Iphone and, alternatively of sending that concept through the SMS technique, it makes use of Apple’s individual proprietary iMessage network. Consumers see the text they sent as a “blue bubble,” as opposed to the eco-friendly coloration found on SMS texts, like these to Android customers. The inferiority of “inexperienced bubble” texts has turn into a meme and influenced a tune by the musician Drake.

iMessage chats present a much better consumer working experience than SMS chats on an Iphone. A lot of of Apple’s attributes, like including emoji reactions to a solitary text information, barely operate on SMS chats. iMessage chats truly feel faster mainly because of Apple’s animations and incorporate attributes like bubbles that reveal no matter whether a person is typing, and exceptional team chat administration.

Apple proceeds to distinguish iMessage from SMS via new features, like the potential to unsend or edit messages, which will be unveiled this tumble.

Green bubbles

Inexperienced and blue bubbles.

Pattonmania | Istock | Getty Photographs

Google claims that it isn’t going to want Apple to bring iMessage to Android, but that it wishes Apple to help RCS, which was made by a group of wi-fi carriers and other tech companies to be an enhancement to the SMS and MMS units that have been in location for many years.

Google’s campaign on Tuesday emphasizes that RCS guidance for iPhones would make it possible for numerous new attributes when an Apple iphone person texts an Android user, including bigger-resolution shots, the means to send out texts in excess of Wi-Fi, and the potential to exhibit go through receipts.

Google also claims that RCS messages are encrypted although SMS messages are not, indicating that the new conventional is far more private.

“If [Apple] adopted the platform, it makes it possible for buyers to love things like large-res shots and video clip sharing, go through receipts, loaded reactions,” Lofton reported. “And this is an important a single — improved security and privacy with encryption.”

But SMS is not important for messaging in quite a few markets and Google’s campaign is concentrated on the U.S. current market. In quite a few nations around the world, people textual content through applications such as WhatsApp or Telegram or WeChat.

In actuality, Google advisable in its marketing campaign on Tuesday that buyers could by now obtain Signal or WhatsApp, pointing out that those no cost apps are as safe as RCS guarantees to be.

Apple has remained silent on RCS and carries on to insert features to iMessage, which only works on iPhones and other Apple solutions. Apple did not respond to a request for remark.





Resource backlink